उज्जैन में हुई दरिंदगी के बाद, कांग्रेस नेता रंदीप सिंह सुरजेवाला ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर उठाए सवाल!!

29 सितंबर 2023: उज्जैन, मध्यप्रदेश

कांग्रेस नेता रंदीप सिंह सुरजेवाला ने उज्जैन में हुई दरिंदगी के बाद, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा, “उज्जैन में 12 साल की मासूम के साथ हुई दरिंदगी ने सभी को झकझोरकर रख दिया है।” सुरजेवाला ने सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री क्यों पीड़िता से मिलने नहीं पहुंचे और सरका र द्वारा पीड़ित परिवार के साथ सहायता क्यों नहीं दी गई। इस घटना ने पूरे मध्य प्रदेश को हिला दिया है, और इसके बाद से ही कांग्रेस नेता रंदीप सिंह सुरजेवाला ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ तीखे सवाल उठाए हैं। इस मामले में बिते कुछ दिनों में हुए घटनाक्रम को देखते हुए सुरजेवाला ने सरकार की लापरवाही की ओर इशारा किया है और पीड़ित परिवार के साथ सहायता की मांग की है।

सुरजेवाला ने कहा, “सीएम शिवराज सिंह चौहान इस घटना पर कल तक चुप्पी साधे हुए थे, आखिर इस रहस्यमयी और षडयंत्रकारी चुप्पी का राज़ क्या है।” उन्होंने कहा कि पीड़िता के लिए कमलनाथ जी ने पार्टी की तरफ से 5 लाख की आर्थिक सहायता देने का निर्णय लिया है और इसके अलावा और भी मदद की जाएगी।

उज्जैन केस में हुए घटनाक्रम के बारे में बताते हुए सुरजेवाला ने कहा, “सीएम शिवराज सिंह चौहान के पास उत्सव करने का समय है, जलसे करने का समय है, बयानबाजी करने का समय है लेकिन चार-चार दिन तक बलात्कार के बाद सांत्वना का एक शब्द बोलने का समय नहीं है। क्या आपको कुर्सी पर बने रहने का अधिकार है?”इसके बाद उन्होंने सरकार और पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस मामले में कई अपराधी हो सकते हैं और मध्य प्रदेश में बेटियां असुरक्षित हैं। वे इस घटना के बाद भी मुख्यमंत्री की खामोशी और उनकी इवेंटबाजी को लेकर हैरान हैं। पीड़िता के परिवार के साथ सहायता की मांग करते हुए सुरजेवाला ने कहा, “सरकार और पुलिस बार बार ये कहती रही कि ये लड़की भिखारी है और उत्तर प्रदेश की रहने वाली है। लेकिन अब सामने आ गया है कि ये सतना के एक दलित परिवार की लड़की है।”

सुरजेवाला ने सरकार और पुलिस के साथ कई सवाल उठाए, जैसे कि ये कैसे हुआ कि यह लड़की सतना से उज्जैन तक कैसे पहुंची, और क्यों सतना पुलिस ने जब उसके पिता ने उन्हें शिकायत दर्ज कराई तो FIR क्यों नहीं दर्ज की गई। उन्होंने यह भी सवाल किया कि यदि यह लड़की सतना से उज्जैन आई है, जो कि 700 किमी दूर है, तो इसके पीछे की कहानी क्या है। उन्होंने कहा कि उज्जैन पुलिस ने यह क्यों नहीं जांचा कि लापता हुई लड़की के बारे में विवरण निकालने के लिए CCTNS सिस्टम की जांच क्यों नहीं की। उन्होंने यह भी पूछा कि लड़की को उज्जैन पुलिस ने कैसे भिखारी घोषित किया, जबकि वह स्कूल की यूनिफ़ॉर्म में थी।

इसके साथ ही उन्होंने सरकार और भाजपा के नेताओं पर भी सवाल उठाए, कहा कि वे पीड़िता के परिवार को मिलने के लिए सतना से इंदौर क्यों नहीं लाए और उनकी सेहमती में खड़े होकर उनके आंसुओं को पोंछने के लिए क्यों नहीं जा रहे। उन्होंने कहा, “क्या चुनावी रैली ने राजधर्म के बीच आने में रोक डाली है, या फिर शिवराज अपना कर्तव्य भूल गए हैं? भाजपा के स्वंग घोषित ‘बड़े नेता’ कैलाश विजयवर्गीया अस्पताल से सिर्फ 1 किमी दूर हैं। क्या चुनौती पर समय निकालकर अपनी बेटी से मिलने का मौका नहीं मिला? हम कांग्रेस के साथी इसे सजा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

कांग्रेस के प्रमुख नेता सुप्रिया श्रीनाते ने पार्टी के मुखालय में प्रेस कॉन्फ़्रेंस करते हुए कहा, “शिवराज सिंह चौहान के सरकार के राज में जंगलराज महिलाओं, दलितों, और आदिवासियों के लिए एक कुर्सी की तरह बन गया है। “उन्होंने कहा, यह घटना आत्मा को झकझोर देने वाली है। किसी भी सरकार के लिए, जब एक लड़की को अपने शरीर को ढकने के लिए 8 किमी तक चलना पड़ता है, तो यह पुलिस की अक्षमता को दिखाता है। यह बताता है कि राज्य की भाजपा सरकार में कितनी लापरवाही है। “उन्होंने कहा कि पीड़िता की सेहमती में जगह देने के बजाय सरकार और पुलिस ने उसे भिखारी घोषित किया, जबकि वह स्कूल की यूनिफ़ॉर्म में थी।

उन्होंने कहा कि यदि उज्जैन पुलिस ने CCTNS सिस्टम की जांच की होती, तो उन्हें लड़की के विवरण मिल जाते। “इस घटना के बावजूद, सरकारी और भाजपा नेताओं ने लड़की के पास पहुंचकर उसके स्वास्थ्य की जांच क्यों नहीं की, और उनके परिवार के सदस्यों से मिलकर उनके आंसुओं को पोंछने का मौका क्यों नहीं दिया?” उन्होंने सवाल उठाया। कांग्रेस के प्रमुख नेता कमलनाथ जी ने बच्ची के परिवार को तुरंत 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है और उन्होंने कहा कि यदि आवश्यक हो, तो उन्हें देश के सबसे अच्छे अस्पतालों में इलाज कराया जाएगा। उन्होंने कहा, “भाजपा का जो इंसानियत है, वह बिल्कुल मर गई है, लेकिन आज के बाद शायद वह जाग जाएगी। “यह घटना न केवल मध्य प्रदेश की, बल्कि पूरे देश की रूह को कांप देने वाली है, और इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री शिवराज का मौन और इवेंटबाजी हैरानी का कारण बन गया है।

कांग्रेस पार्टी ने इस मामले में सरकार की लापरवाही की ओर इशारा किया है और पीड़ित परिवार के साथ सहायता की मांग की है। उन्होंने कहा कि सरकार को इस मामले की जांच में तुरंत कदम उठाना चाहिए और दोषियों को सजा देनी चाहिए। कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनाते ने कहा, “यदि सरकार इस मामले में न्याय नहीं करती, तो हम उज्जैन से दिल्ली तक न्याय मांगने के लिए तैयार हैं। हम इस मुद्दे को न्यायालय तक ले जाएंगे और न्याय हासिल करेंगे। “इस मामले में पीड़ित परिवार के सदस्यों और उनके समर्थकों ने भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया है और न्याय की मांग की है। इसके बाद से ही कांग्रेस पार्टी ने इस मामले में सरकार के खिलाफ आवाज उठाई है और न्याय की मांग की है।

prateeksha thakur

Related Posts

चौथा राष्ट्रीय अटल अवार्ड: विभिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय योगदान के लिए उत्कृष्टता को किया गया सम्मानित

भाजपा के वरिष्ठ नेता और हिमाचल प्रदेश के प्रभारी, अभिनाश राय खन्ना बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। 37 लोगों को दिया गया यह सम्मान नई दिल्ली, 21 जून, 2024: दिल्ली में…

Read more

तेलंगाना के 11 से 16 वर्ष के चार युवा एडवेंचरर्स ने हासिल की नई ऊंचाईयां

विनर्स एंड अचीवर्स ने आयोजित किया इन युवाओं के लिए एडवेंचरर्स कैंप नई दिल्ली, – 19 June, 2024: प्रसिद्ध पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत की एडवेंचर कंपनी विनर्स एंड अचीवर्स और रांची…

Read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

धर्म

अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में होंगे शामिल

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में  होंगे शामिल

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात