बीकानेर हाउस के चांदनी बाग में राजस्थान उत्सव-2024 का आयोजन

प्रमुख आवासीय आयुक्त श्री आलोक ने किया उत्सव का शुभारंभ

राजस्थान के लोक कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से बांधा समां

नई दिल्ली, 28 मार्च, 2024

राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित साप्ताहिक कार्यक्रमों की श्रंखला में गुरुवार को नई दिल्ली के बीकानेर हाउस के चांदनी बाग में आयोजित राजस्थान उत्सव समारोह में राजस्थान पर्यटन विभाग द्वारा सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान के लोक कलाकारों ने अपनी कला और नृत्य से ऐसा समां बांधा, कि सभी उपस्थित दर्शक मंत्र मुग्ध हो गए।
राजस्थान उत्सव का शुभारंभ प्रमुख आवासीय आयुक्त श्री आलोक ने दीप प्रज्वलित कर किया।

इस अवसर पर अतिरिक्त आवासीय आयुक्त श्रीमती अंजु ओमप्रकाष, उप आवासीय आयुक्त श्रीमती रिंकू मीना, वरिष्ठ लेखाधिकारी श्रीमती श्रेया सिंह भदोरिया और पर्यटक स्वागत केन्द्र की उप निदेषक श्रीमती दीपाली शर्मा भी उपस्थित थे।

राजस्थान पर्यटक स्वागत केन्द्र के सहायक निदेषक श्री छतरपाल यादव ने बताया कि इस सांस्कृतिक संध्या का आरंभ अतिथियों के स्वागत के साथ किया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ जोधपुर के मो. रफीक और उनके साथी कलाकारों ने गणेश वंदना से किया। इसके उपरांत श्रीमती मोरू सपेरा और उनके दल ने प्रदेश के पारंपरिक चरी, भवई, कालबेलिया एवं घूमर नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किया। अलवर के मशहूर कलाकार श्री उमर फारूख ने भपंग वादन की प्रस्तुति प्रस्तुत कर दर्शकों का मनोरंजन करते हुए उनका मन मोह लिया।

कार्यक्रम के उदघोषक अलवर के श्री खेमेन्द्र सिंह ने उत्कृष्ट रूप से कार्यक्रम का संचालन किया।

इस अवसर पर राज्य सरकार के दिल्ली स्थित कार्यालयों के अधिकारी एवं कर्मचारियों सहित राजस्थान मित्र मंडल के सदस्य तथा अन्य आमंत्रित विषिष्टगण भी उपस्थित थे।

पगड़ी बांधने की प्रतियोगिता का आयोजन :
इस अवसर पर पगड़ी बांधने की प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदेष के विभिन्न अंचलों से आए लगभग 20 प्रतिभागियों ने विषिष्टजनों एवं आगंतुकों के समक्ष पगड़ी बांधकर दिखाई। इस प्रतियोगिता में निर्धारित जजों के पैनल की अनुषंसा पर तीन लोगों को चुना गया। जिसमें श्री केवल चंद को प्रथम, श्री मुकेष सिंघल को द्वितीय तथा कैलाष नायक को तृतीय पुरूस्कार से सम्मानित किया।

पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन :
इससे पूर्व इस अवसर पर एक पेंटिंग प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता को दो समूहों मे विभाजित किया गया। जिसमें 6 से 12 वर्ष के समूह में लगभग 45 बच्चों और 12 से 18 वर्ष के समूह में 24 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में भी निर्धारित जजों के पैनल की अनुषंसा पर तीन प्रतिभागियों को पुरूस्कारों के लिए चयनित किया गया। इन सभी को पुरूस्कार के रूप में गिफ्ट हैंपर प्रदान किए गए।

रूडा द्वारा षिल्प मेले का आयोजन
राजस्थान उत्सव के इस साप्ताहिक कार्यक्रम में जहां एक ओर राजस्थान ग्रामीण गैर कृषि विकास एजेंसी (रूडा) द्वारा आयोजित शिल्प मेले ने अपनी अनूठी शिल्पकृतियों से आगंतुकों को आकर्षित किया, तो दूसरी ओर पॉटर्स व्हील और ब्लॉक प्रिंटिंग वर्कशॉप ने अतिथियों को स्वयं मिट्टी की आकृतियाँ बनाने का रोचक अनुभव प्रदान करवाया।

bureau jabalpurpatrika

Related Posts

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शिक्षाविद मनोज शर्मा हुए शामिल

नई दिल्ली, 10 जून 2024: पीआर गुरु के संस्थापक और शिक्षाविद मनोज शर्मा को रविवार राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का सम्मान…

Read more

प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवनीत चतुर्वेदी

नई दिल्ली, 9 जून, 2024: जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवनीत चतुर्वेदी रविवार ने नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया। हाल ही…

Read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

धर्म

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में होंगे शामिल

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में  होंगे शामिल

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात

महाशिवरात्रि के पावन दिन पर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में भक्तों की भीड़

महाशिवरात्रि के पावन दिन पर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में भक्तों की भीड़