प्रदेश में बर्बाद हो रही फसलों के संकट के बारे में कांग्रेस ने शिवराज सरकार को घेर लिया है।

मध्य प्रदेश | 27 सितंबर 2023

परेशान किसान सरकार से लगातार मांग कर रहा है कि फसलों के नष्ट होने का निरिक्षण किया जाए और तुरंत मुआवजा और राहत राशि का वितरण किया जाए। लेकिन अब तक शिवराज सरकार ने फसल के हुए नुकसान का निरिक्षण भी नहीं कराया है, जिसके कारण किसान आंदोलन करने को मजबूर है।

मध्य प्रदेश में सोयाबीन की खेती करने वाले किसान गंभीर कृषि संकट से जूझ रहे हैं। एक महीने पहले तक स्थिति यह थी कि प्रदेश को 50 साल के सबसे बड़े सूखे का सामना करना पड़ रहा था, जिसके कारण सोयाबीन की फसल सूख रही थी। इसके बाद, ईश्वर की कृपा से बारिश हुई, लेकिन उसके तुरंत बाद ही फसलों में कीड़ा लग गया। वर्तमान में स्थिति यह है कि मध्य प्रदेश में 53 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में जो सोयाबीन की फसल लगाई गई है, वह पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने बुधवार को प्रेसवार्ता करके भाजपा के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक और कांग्रेस के मीडिया सलाहकार पीयूष बबेले ने कहा कि परेशान किसान सरकार से लगातार मांग कर रहा है कि फसलों के नष्ट होने का निरिक्षण किया जाए और तुरंत मुआवजा और राहत राशि का वितरण किया जाए। लेकिन अब तक शिवराज सरकार ने फसलों के हुए नुकसान का निरिक्षण भी नहीं कराया है, जिसके कारण किसान आंदोलन करने को मजबूर है।

मध्य प्रदेश के विदिशा, सीहोर, खरगोन, खंडवा, नर्मदापुरम, इंदौर, धार, रतलाम, उज्जैन, हरदा, बैतूल और मंदसौर जिलों में मुख्य रूप से सोयाबीन की खेती करने वाले किसान हैं। इन सभी जिलों के 40 लाख से अधिक किसान सोयाबीन के नष्ट होने से परेशान हैं। कांग्रेस पार्टी शिवराज सिंह चौहान से पूछना चाहती है कि जब भारत ने इतनी वैज्ञानिक तरक्की कर ली है कि हम चंद्रयान भेज कर चंद्रमा तक की सतह की बारीक से तस्वीर ले सकते हैं, तो सरकार ने अपने मध्य प्रदेश में ऐसा कैसा प्रशासनिक ढांचा बनाया है कि लाखों हेक्टेयर में बर्बाद हो गई फसल की सही तस्वीर आप तक नहीं पहुंच रही है और ना ही उसका निरिक्षण हो पा रहा है, और ना ही किसानों को मुआवजा मिल पा रहा है। कांग्रेस पार्टी शिवराज सिंह चौहान से मांग करती है कि जिस तरह कमलनाथ ने अपने कार्यकाल में खुद खेतों का दौरा करके तुरंत मुआवजा देने की पहल की थी, उसी तरह सीएम शिवराज भी किसानों के भविष्य और जीवन को लालच में फंसाने की जगह तुरंत किसानों को मुआवजा देने की पहल करें।

नर्मदा को भी नहीं छोड़ा गया

एक अन्य प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, कांग्रेस के भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार ने सबसे ज्यादा झूठ और मिथ्या प्रचार प्रदेश की जनता से किया है, लेकिन प्रदेश की जीवन रेखा मां नर्मदा से भी खेलने का प्रयास किया है। मां नर्मदा को धोखा दिया गया है। मध्य प्रदेश की आत्मा और प्राण मां नर्मदा में बसे हुए हैं। नर्मदा जी के कारण जीवन है, लहराते हुए खेत हैं, भरपूर अन्न है, भरपूर बिजली है। इसलिए भाजपा ने विधानसभा में नर्मदा जी को जीवंत अधिकार देने का बिल प्रस्तुत किया था, जिसे सर्वसम्मति से 3 मई 2017 को पास किया गया था।
नर्मदा जी को जो वादे इस बिल के माध्यम से किए गए थे। प्रदेश की जनता की नजर में झूठे वादों के लिए मुख्यमंत्री बन चुके और भाजपा ने मां नर्मदा को भी नहीं बख्शा। उन्होंने भी झूठी घोषणाओं के हार में पहन लिया है। नर्मदा सेवा सेना इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आपके ज्ञान में लाना चाहती है कि वे नर्मदा में भी झूठी कसम उठा चुके हैं। नर्मदा जी के अंदर खड़े होकर पानी में कसम खाने वालों के चेहरे पूरा प्रदेश जानता है।

  • prateeksha thakur

    Related Posts

    चौथा राष्ट्रीय अटल अवार्ड: विभिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय योगदान के लिए उत्कृष्टता को किया गया सम्मानित

    भाजपा के वरिष्ठ नेता और हिमाचल प्रदेश के प्रभारी, अभिनाश राय खन्ना बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। 37 लोगों को दिया गया यह सम्मान नई दिल्ली, 21 जून, 2024: दिल्ली में…

    Read more

    तेलंगाना के 11 से 16 वर्ष के चार युवा एडवेंचरर्स ने हासिल की नई ऊंचाईयां

    विनर्स एंड अचीवर्स ने आयोजित किया इन युवाओं के लिए एडवेंचरर्स कैंप नई दिल्ली, – 19 June, 2024: प्रसिद्ध पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत की एडवेंचर कंपनी विनर्स एंड अचीवर्स और रांची…

    Read more

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    धर्म

    अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

    अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

    रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में होंगे शामिल

    रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में  होंगे शामिल

    बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

    बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

    सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

    सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

    बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

    बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

    महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात

    महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात