ओजोन ग्रुप ने वैश्विक दर्द प्रबंधन का नेतृत्व करने के विजन का किया अनावरण, मॉलिक्यूल पहल शुरू की

‘ओजोन-दर्द प्रबंधन में ओजोन का जुनून’ नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में किया गया लॉन्च

‘क्वालिनॉमिक्स के द्वारा ओजोन का लक्ष्य दुनिया भर में दर्द से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सेवा में क्रांति लाना है।

नई दिल्ली, 10 जनवरी, 2024:

दिल्ली के ली मेरिडियन होटल में बुधवार को आयोजित एक कार्यक्रम में ओजोन ने दुनिया की अग्रणी दर्द प्रबंधन कंपनी बनने की दृष्टि से अपनी मॉलिक्यूल पहल शुरू की, जो दर्द को खत्म करने के लिए कंपनी के समर्पण को रेखांकित करते हुए मील का पत्थर साबित होगी।

दर्द-मुक्त विश्व के लिए महत्वाकांक्षी दृष्टिकोण

ओजोन फार्मास्यूटिकल्स के समूह निदेशक श्री सौरव बनर्जी ने कंपनी के मिशन को व्यक्त करते हुए “जीवन में वर्ष और जीवन में वर्ष जोड़ने” की प्रतिबद्धता पर जोर दिया। उन्होंने श्री एस सी सहगल के नेतृत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत और विदेशों में दस लाख से अधिक रोगियों को आर्थिक रूप से गुणवत्तापूर्ण दवा प्रदान करने के लिए क्वालिनॉमिक्स के द्वारा ओजोन का लक्ष्य दुनिया भर में दर्द से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सेवा में क्रांति लाना है।

स्वास्थ्य सेवा में क्रांतिकारी बदलाव

लाइफ साइंसेज सेक्टर स्किल डेवलपमेंट काउंसिल की वरिष्ठ निदेशक डॉ. निवेदिता मुर्कुटे ने उद्योग की उभरती जरूरतों के अनुरूप, दर्द प्रबंधन के लिए ओजोन के अपरंपरागत दृष्टिकोण की सराहना की। ‘ओजोन – दर्द प्रबंधन में ओजोन का जुनून’ को स्वास्थ्य सेवा में क्रांतिकारी बदलाव की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में सराहा गया।

विशिष्टता और विकास

डीएफओ के साथ अपनी सफलता पर गर्व करते हुए ओजोन अपनी विशिष्टता को अपनाता है और उद्योग की सबसे तेजी से बढ़ती कंपनियों में से एक के रूप में उभर रहा है। कार्यक्रम में वैश्विक स्तर पर नंबर 1 दर्द प्रबंधन कंपनी बनने के कंपनी के दृष्टिकोण पर जोर दिया गया।

बहुआयामी दृष्टिकोण

भंवरे की परंपराओं को तोड़ने की भावना से प्रेरित होकर ओजोन का लक्ष्य दुनिया भर में अग्रणी दर्द प्रबंधन कंपनी बनने की अपनी यात्रा में उम्मीदों पर खरा उतरना है। ओजोन ग्रुप के सीएमडी श्री एस सी सहगल ने अपने वर्तमान व्यवसाय से परे बहुआयामी विकास के लिए कंपनी की प्रतिबद्धता पर जोर दिया। क्वालिनॉमिक्स के तहत कैंसर प्रबंधन और रोकथाम पर ध्यान केंद्रित करने वाली पहलों पर प्रकाश डाला गया।

मॉलिक्यूल का परिचय

ओजोन की पहल में एक उल्लेखनीय अतिरिक्त मॉलिक्यूल प्रभाग की शुरूआत है, जिसमें भंवरा प्रतीक चिन्ह को अपनाया गया है। यह विभाजन वैश्विक स्तर पर दर्द को कम करने और दुनिया को रहने के लिए एक बेहतर जगह बनाने के कंपनी के दृष्टिकोण को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

रोगी का कोट्स….

ओजोन के दर्द प्रबंधन समाधानों के लाभार्थी अजय रस्तोगी ने आभार व्यक्त करते हुए कहा, “ओजोन ने वास्तव में मेरे जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। दर्द को खत्म करने के लिए उनकी प्रतिबद्धता सराहनीय है और मैं उनके उत्पादों की प्रभावशीलता का एक जीवित प्रमाण हूं।”

ओजोन के बारे में

तीन दशकों से ओजोन “जीवन में वर्ष और जीवन में वर्ष जोड़ना” मंत्र के लिए प्रतिबद्ध है। दर्द से राहत प्रदान करने के अलावा, ओजोन के उत्पादों का लक्ष्य जीवन को शारीरिक, भावनात्मक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक स्तरों पर सकारात्मक रूप से प्रभावित करना है। ‘ओजोन – दर्द प्रबंधन में ओजोन का जुनून’ का लॉन्च दुनिया की अग्रणी दर्द प्रबंधन कंपनी बनने के कंपनी के दृष्टिकोण को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

Related Posts

चौथा राष्ट्रीय अटल अवार्ड: विभिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय योगदान के लिए उत्कृष्टता को किया गया सम्मानित

भाजपा के वरिष्ठ नेता और हिमाचल प्रदेश के प्रभारी, अभिनाश राय खन्ना बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। 37 लोगों को दिया गया यह सम्मान नई दिल्ली, 21 जून, 2024: दिल्ली में…

Read more

तेलंगाना के 11 से 16 वर्ष के चार युवा एडवेंचरर्स ने हासिल की नई ऊंचाईयां

विनर्स एंड अचीवर्स ने आयोजित किया इन युवाओं के लिए एडवेंचरर्स कैंप नई दिल्ली, – 19 June, 2024: प्रसिद्ध पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत की एडवेंचर कंपनी विनर्स एंड अचीवर्स और रांची…

Read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

धर्म

अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

अयोध्या: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कराने वाले पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित का 86 साल की उम्र में देहांत

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में होंगे शामिल

रामचरितमानस और पंचतंत्र को UNESCO की तरफ से मिली मान्यता,’मेमोरी ऑफ द वर्ल्ड’ एशिया-पैसिफिक रीजनल रजिस्टर में  होंगे शामिल

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

बीकानेर हाउस में आयोजित नौ दिवसीय ‘राजस्थान उत्सव-2024 में राजस्थानी हस्तशिल्प मेले का हुआ समापन

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

सड़क पर नमाज पढ़ रहे लोगों को पीटने वाला पुलिसकर्मी निलंबित: लोगों ने की कड़ी कार्रवाई की मांग

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

बैद्यनाथ धाम के पंचशूल में छिपी हैं कुछ अनसुनी कहानियां जानिए वहां क्या है खास ?

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात

महाशिवरात्रि पर बैद्यनाथ धाम में भक्तों की भरमार, हर-हर महादेव की जय जयकार! ; देर शाम को निकलेगी शिव बारात